उत्तराखंड ने ध्वनि प्रदूषण के लिए भारी जुर्माना लगाया

0
32

उत्तराखंड सरकार ने शुक्रवार को ध्वनि प्रदूषण पर भारी जुर्माना लगाने का फैसला किया।

राज्य सरकार ने बताया, “धार्मिक स्थलों, विवाह समारोहों और/या वाहनों से होने वाले ध्वनि प्रदूषण पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा।”

शुक्रवार देर शाम सचिवालय में हुई राज्य कैबिनेट की बैठक में यह फैसला आया।

राज्य सरकार के प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने एएनआई को बताया, “राज्य ने केंद्र सरकार के ध्वनि प्रदूषण विनियमन नियंत्रण अधिनियम, 2000 के तहत निर्णय लिए हैं, यदि कोई व्यक्ति पहली बार निर्दिष्ट ‘डेसीबल’ का उल्लंघन करता है, तो उस पर जुर्माना लगाया जाएगा। 1,000, दूसरी बार लगेगा जुर्माना 2,500 और तीसरी बार लगेगा जुर्माना 5,000।”

धार्मिक स्थलों पर यदि पहली बार ध्वनि निर्दिष्ट डेसिबल से अधिक होती है, तो जुर्माना लगाया जाएगा 5,000, दूसरी बार – 10,000 और तीसरी बार होगा 15,000. इसी प्रकार होटल/रेस्तरां के लिए यदि पहली बार ध्वनि प्रदूषण का मामला दर्ज किया जाता है, तो जुर्माना होगा 10,000, दूसरी बार– 15,000 और तीसरी बार होगा २०,०००.

औद्योगिक गतिविधियों को करते समय पहली बार ध्वनि प्रदूषण नियमों का उल्लंघन करने पर जुर्माना है 20,000, दूसरी बार – 30,000 और तीसरी बार होगा 40,000.

जरूरत पड़ने पर सरकार शोर करने वाले उपकरणों को भी जब्त कर लेगी।

.

Previous articleराज्यों के पास 1.82 करोड़ से अधिक COVID-19 वैक्सीन खुराक उपलब्ध, 4 लाख से अधिक रास्ते में: केंद्र
Next articlePM-CARES के तहत मासिक वजीफा पाने के लिए कोविड -19 में माता-पिता को खोने वाले बच्चे | भारत की ताजा खबर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here