spot_img
HomeCoronavirusOmicron Variant: Will New COVID Variant Cause Third Wave In India

Omicron Variant: Will New COVID Variant Cause Third Wave In India

- Advertisement -spot_img

Omicron Variant Cases in India: कोरोना वायरस (Coronavirus) का ओमिक्रोन वैरिएंट देश में दस्तक दे चुका है. इस वैरिएंट ने चिंता बढ़ा दी है. कोरोना की दो लहरों की भयावहता का सामना कर चुके है लोगों के मन में सवाल है कि क्या ओमिक्रोन से तीसरी लहर भी आ सकती है.

कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर की संभावना पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका के बाहर के देशों से ओमीक्रोन के मामलों का सामने आना बढ़ता जा रहा है और इसकी जो विशेषता है उसके अनुसार इसके भारत सहित अधिक देशों में फैलने की संभावना है. हालांकि, किस स्तर पर मामले बढ़ेंगे और रोग की गंभीरता को लेकर स्थिति अभी स्पष्ट नहीं है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, ‘‘भारत में टीकाकरण की तीव्र गति और डेल्टा स्वरूप के प्रभाव को देखते हुए इस रोग की गंभीरता कम रहने की उम्मीद है. हालांकि, वैज्ञानिक साक्ष्य अब तक नहीं आए हैं. ’’

दरअसल, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों (एफएक्यू) की एक सूची जारी की है. मंत्रालय ने कहा कि सार्स-सीओवी-2 के नये स्वरूप ओमीक्रोन पर मौजूदा टीकों के काम नहीं करने के बारे में कोई साक्ष्य नहीं है, हालांकि कुछ उत्परिवर्तन टीकों के प्रभाव को कम कर सकते हैं. हालांकि, मंत्रालय ने इस बात का जिक्र किया कि नये स्वरूप द्वारा प्रतिरक्षा को चकमा देने के बारे में साक्ष्य का इंतजार है.

मंत्रालय ने कहा कि भारत सरकार स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है और समय -समय पर उपयुक्त दिशानिर्देश जारी कर रही है.

स्वास्थ्य मंत्री का बयान
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि खतरे की श्रेणी वाले देशों (एट रिस्क) से आए 16 हजार यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच में 18 लोग कोरोना वायरस संक्रमित पाये गये हैं जिनके जीनोम अनुक्रमण से यह पता लगाया जा रहा है कि इनमें से कितने इस नये स्वरूप से संक्रमित हैं.

मंत्री ने कहा कि केंद्र ने राज्य सरकार को सभी सावधानियां बरतने को कहा है तथा हवाई अड्डे सहित अन्य स्थानों पर संक्रमण की जांच के लिये सभी एजेंसियों और प्रदेश सरकारों के साथ समन्वय बनाकर काम किया जा रहा है.

लोकसभा में ‘कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्थिति’ पर हुई चर्चा का शुक्रवार को जवाब देते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कोविड-19 वायरस के नये स्वरूप का जिक्र किया और कहा कि दक्षिण अफ्रीका से दुबई होते हुए भारत आने वाले दो यात्री – 19 साल की एक लड़की और 67 साल के एक पुरुष बेंगलुरू हवाई अड्डे पर कोविड संक्रमित पाए गये.

उन्होंने बताया कि 19 वर्षीय महिला में ओमीक्रोन वायरस की पुष्टि नहीं हुई जबकि बुजुर्ग के नमूने में ओमीक्रोन वायरस की पुष्टि हुई. मांडविया ने कहा कि बुजुर्ग के नमूने की जीनोम अनुक्रमण की रिपोर्ट आने से पहले उनकी दूसरी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी थी और वह दक्षिण अफ्रीका वापस लौट चुके थे और उनके संपर्क में आये लोगों में कोई संक्रमित नहीं मिला.

मांडविया ने बताया कि बेंगलुरू के 46 साल के एक पुरुष की 22 नवंबर को हुई आरटी-पीसीआर जांच में संक्रमण का पता चला. उन्होंने कहा कि इनका जीनोम अनुक्रमण 28 नवंबर को हुआ जिसमें ओमीक्रोन स्वरूप का पता चला और इनके संपर्क में आए तीन परिवार के सदस्यों और 160 लोगों की जांच में पांच लोग संक्रमित मिले जिनके नमूनों का आगे जीनोम अनुक्रमण परीक्षण चल रहा है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इसके अलावा विभिन्न अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से भारत आने वाले लोगों की भी जांच की जा रही है.

Omicron Variant: अफ्रीकी देशों से आए 10 विदेशी नागरिक ‘Not Reachable’, बेंगलुरु प्रशासन के फूले हाथ-पैर

More Info…

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -spot_img
Related News
- Advertisement -spot_img